Shri Saraswati Stotram in Hindi With PDF

Shri Saraswati Stotram in Hindi

Shri Saraswati Stotram in Hindi -  क्या आप Saraswati Stotra Hindi में पढ़ना चाहते हैं?, अगर आपका जवाब हाँ है तो यह पोस्ट सिर्फ आपके लिए है। Saraswati Stotra को Hindi में पढ़ने से पहले जानिए मां Saraswati के बारे में। मां Saraswati ज्ञान, शिक्षा और संगीत की देवी हैं। हिंदू धर्म में देवी Saraswati की पूजा की जाती है। माँ Saraswati माँ पार्वती और माँ लक्ष्मी त्रिदेवी हैं। हमारे भारत देश में गंगा के अलावा यमुना नदी, Saraswati नदी भी बहती है। संगीत के क्षेत्र में सभी जाति धर्म के लोग मां Saraswati की पूजा करते हैं और संगीत की कला का सम्मान करते हैं। Saraswati Stotram की रचना ब्रह्मा जी ने की है. Saraswati Stotram  बहुत ही प्रभाव शाली तथा लाभकारी स्तोत्र है Saraswati देवी को अन्य नामो से भी जाना जाता है जैसे की शारदा, विनपाणी, नामगल, भारती आदि।

दरअसल मेरा नाम शिवपूजन है और मैं  हिन्दू धर्म के बारे में पिछले दस वर्षों से जानकारी प्राप्त कर रहा हूँ।  मैंने बचपन से ही भगवान से प्यार किया है। अब मैं हिंदू धर्म के सभी प्रकार के भजन, चालीसा, मंत्र जाप आदि का वर्णन करता हूं। शोध के दौरान हमने पाया कि कई स्तोत्र, चालीसा, मंत्र आदि के तहत PDF सुविधा बहुत कम उपलब्ध है। हम आपसे वादा करते हैं कि हम आपको हर स्तोत्र, चालीसा, मंत्र आदि के तहत PDF सुविधा प्रदान करेंगे। हमारा एक प्रश्न है। आपसे?, क्या आप Saraswati Stotra को ऑनलाइन ही पढ़ना चाहते हैं, हमें ऐसा नहीं लगता।

आपकी श्रद्धा और भक्ति से हम अनुमान लगा सकते हैं कि आप Saraswati Stotra को ऑफलाइन भी पढ़ना चाहते हैं। इसलिए आपकी सेवा को ध्यान में रखते हुए हमने Saraswati Stotra PDF की सेवा उपलब्ध कराई है। Saraswati Stotra को आप दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं। आइए अब हम एक साथ Saraswati Stotra in Hindi में जप करें।

सरस्वती स्तोत्रम के बोल हिंदी में पढ़ें | Read Saraswati Stotram Lyrics in Hindi  

|| Saraswati Stotram ||

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना ।

या ब्रह्माच्युतशङ्करप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा ॥1॥

आशासु राशीभवदङ्गवल्लीभासैव दासीकृतदुग्धसिन्धुम् ।
मन्दस्मितैर्निन्दितशारदेन्दुं
वन्देऽरविन्दासनसुन्दरि त्वाम् ॥2॥

शारदा शारदाम्भोजवदना वदनाम्बुजे ।
सर्वदा सर्वदास्माकं सन्निधिं सन्निधिं क्रियात् ॥3॥

सरस्वतीं च तां नौमि वागधिष्ठातृदेवताम् ।
देवत्वं प्रतिपद्यन्ते यदनुग्रहतो जनाः ॥4॥

पातु नो निकषग्रावा मतिहेम्नः सरस्वती ।
प्राज्ञेतरपरिच्छेदं वचसैव करोति या ॥5॥


शुक्लां ब्रह्मविचारसारपरमामाद्यां जगद्व्यापिनीं
वीणापुस्तकधारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम् ।

हस्ते स्फाटिकमालिकां च दधतीं पद्मासने संस्थितां
वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम् ॥6॥

वीणाधरे विपुलमङ्गलदानशीले
भक्तार्तिनाशिनि विरञ्चिहरीशवन्द्ये ।

कीर्तिप्रदेऽखिलमनोरथदे महार्हे
विद्याप्रदायिनि सरस्वति नौमि नित्यम् ॥7॥

श्वेताब्जपूर्णविमलासनसंस्थिते हे
श्वेताम्बरावृतमनोहरमञ्जुगात्रे ।

उद्यन्मनोज्ञसितपङ्कजमञ्जुलास्ये
विद्याप्रदायिनि सरस्वति नौमि नित्यम् ॥8॥

मातस्त्वदीयपदपङ्कजभक्तियुक्ता
ये त्वां भजन्ति निखिलानपरान्विहाय ।

ते निर्जरत्वमिह यान्ति कलेवरेण
भूवह्निवायुगगनाम्बुविनिर्मितेन ॥9॥

मोहान्धकारभरिते हृदये मदीये
मातः सदैव कुरू वासमुदारभावे ।

स्वीयाखिलावयवनिर्मलसुप्रभाभिः
शीघ्रं विनाशय मनोगतमन्धकारम् ॥10॥

न स्यात्कृपा यदि तव प्रकटप्रभावे
न स्युः कथञ्चिदपि ते निजकार्यदक्षाः ॥11॥

लक्ष्मीर्मेधा धरा पुष्टिर्गौरी तुष्टिः प्रभा धृतिः ।
एताभिः पाहि तनुभिरष्टाभिर्मां सरस्वति ॥12॥

सरस्वत्यै नमो नित्यं भद्रकाल्यै नमो नमः ।
वेदवेदान्तवेदाङ्गविद्यास्थानेभ्य एव च ॥13॥

सरस्वति महाभागे विद्ये कमललोचने ।
विद्यारुपे विशालाक्षि विद्यां देहि नमोऽस्तु ते ॥14॥

यदक्षरं पदं भ्रष्टं मात्राहीनं च यद्भवेत् ।
तत्सर्वं क्षम्यतां देवि प्रसीद परमेश्वरि ॥15॥

॥ इति श्री सरस्वती स्तोत्रम सम्पूर्णम् ॥

सरस्वती स्तोत्रम के लाभ | Benifits of Saraswati Stotram 

  • बुद्धि का विकास होता है
  • संगीत कला में वृद्धि होती है
  • पाठ के दौरान चारों ओर सकारात्मक ऊर्जा फैलती है
  • कक्षा में ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है
  • माँ सरस्वती की कृपा तथा आशीर्वाद सदैव बना रहता है
  • नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है

सरस्वती स्तोत्रम के बोल की छवि डाउनलोड करें | Download Shri Saraswati Stotram Lyrics Image in Hindi

Shri Saraswati Stotram Lyrics Image in Hindi

हम आपको Saraswati Stotram के बोल के तहत छवियों की सुविधा प्रदान कर रहे हैं।

हम आशा करते हैं कि आप हमारी सेवा से लाभान्वित होंगे। अगर आप Hindi में Saraswati Stotram इमेज डाउनलोड करना चाहते हैं। तो आप नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करके इमेज को डाउनलोड कर सकते हैं।

Saraswati Stotra छवि को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें।

श्री सरस्वती स्तोत्रम पीडीएफ हिंदी में | Shri Saraswati Stotram PDF in Hindi 

जिस प्रकार हमने आपको इस पोस्ट के तहत Saraswati Stotram के बोल इमेज को Hindi में डाउनलोड करने की सेवा प्रदान की है, उसी तरह हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से PDF डाउनलोड करने की सेवा प्रदान कर रहे हैं।

अगर आपका मोबाइल इंटरनेट काम नहीं कर रहा है या इंटरनेट बंद है तो आप Saraswati Stotra को इस PDF के माध्यम से बिना किसी रुकावट के पढ़ सकते हैं।

हम अपने आप को सौभाग्यशाली मानते हैं कि हमें आपकी सेवा करने का अवसर मिला। Saraswati Stotra PDF डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें।

श्री सरस्वती स्तोत्रम के बोल का वीडियो देखे | Watch The Video of Sri Saraswati Stotram Lyrics

अगर आप Saraswati Stotram पढ़ने के अलावा वीडियो देखने के इच्छुक हैं। इसलिए वीडियो देखने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है।

आपकी सेवा को ध्यान में रखते हुए हमने यूट्यूब की सहायता से Saraswati Stotra के बोल Hindi में आपके सामने प्रस्तुत किए हैं।

आप केवल प्ले बटन पर क्लिक करके Saraswati Stotra के बोल बजाना शुरू कर सकते हैं। इस वीडियो के माध्यम से Hindi में Saraswati Stotra को देखने और पढ़ने का आनंद लें।


अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल | Frequently Asked Questions

सरस्वती स्तोत्रम का जाप कैसे करे? 
  1. सबसे पहले ताजे पानी से नहा लें।
  2. सफेद वस्त्र धारण करें।
  3. सरस्वती देवी की छवि और मूर्ति पर सफेद कपड़ा लगाएं।
  4. फिर उसके बाद मां सरस्वती के सामने सफेद कमल या अन्य सफेद फूल चढ़ाएं।
  5. इन सभी प्रक्रियाओं को करने के बाद आप अपने मन में मां सरस्वती का नाम लेकर सरस्वती स्तोत्र की शुरुआत कर सकते हैं।

सरस्वती जी किसकी बेटी थी?

सरस्वती देवी के पिता ब्रह्मा जी हैं। मां सरस्वती ब्रह्मा जी की पुत्री हैं, आपको बता दें कि श्री सरस्वती स्तोत्र की रचना स्वयं ब्रह्मा जी ने की है।

सरस्वती माता का पुत्र कौन है?

सरस्वती देवी के पुत्र का नाम मनु है। मां सरस्वती के पुत्र का जन्म वन में हुआ था, जिन्हे इस संसार में मनु के नाम से जाना जाता है।

ब्रह्मा ने अपनी ही बेटी से शादी क्यों की?

वेदों में कहा गया है कि सरस्वती देवी से विवाह करने की क्षमता और शक्ति ब्रह्म देव जी के अलावा किसी देवता में नहीं थी। तो अंत में भगवान विष्णु ने मां सरस्वती से ब्रह्मा जी से विवाह करने को कहा।

हिंदू धर्म में सरस्वती कौन है?

मां सरस्वती ब्रह्मा जी की पुत्री हैं। हिंदू धर्म में सरस्वती देवी को ज्ञान, विद्या और संगीत की कला की देवी माना जाता है। दिवाली, अष्टमी, सरस्वती पूजा आदि के दिन घर में देवी सरस्वती की पूजा की 

जाती है।सरस्वती स्तोत्र की रचना किसने की है?

सरस्वती स्तोत्र भगवान ब्रह्मा द्वारा रचित है।


सरस्वती मां के हंस क्यों होता है?

सरस्वती मां के सात, जो आप सफेद हंस हैं, वह सफेद हंस सरस्वती देवी की सवारी है। सफेद हंस अच्छाई और सच्चाई आदि का प्रतीक माना जाता है।

(कृपया ध्यान दें)

अंत में हम यही सुझाव देना चाहेंगे कि आप इस स्तोत्र की पीडीएफ फाइल को डाउनलोड कर लें। ताकि आप बिना किसी रुकावट के भजन पढ़ने का आनंद उठा सकें

हमारे द्वारा प्रदान की गई सेवा से आपको कितने प्रतिशत लाभ हुआ? अपने अनुभव हमारे साथ कमेंट के माध्यम से जरूर शेयर करें।

यदि आप हमारे द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा में कोई त्रुटि देखते हैं, तो कृपया हमें टिप्पणियों में बताएं। इससे हमारे पोस्ट में सुधार होगा। हमें अपना अनुभव बताएं।

Post a Comment

Did you benefit from the information provided by us? Do share your experience through comment...

Previous Post Next Post